Tag Archives: #part-5

Lifestyle Changing thought in hindi (Part-5)



LCT-31:
ब्यक्ति को शांत देखकर कुछ लोग
उनको साधारण समझते हैं ।
यह चिंताधारा उनकी  गलत है !!
क्योंकि

शांत ब्यक्ति के कदम और कलम से दूर रहें ।
अर्थार्त
जब बिजली गिरती है!
तो बह किसीको लपेट में लेता ही है । 
सतर्क रहना आपकी कर्तब्य है ।
LCT-32:
अनजान ब्यक्ति मुख से मीठी बात हो रहा है तो सतर्क रहें ।
क्योंकि बह आपसे कुछ इच्छा प्राप्ति की आशा रख रहा है।

अर्थार्त

प्रत्येक ब्याकि गलत नहीं है परंतु परखना आपकी कार्य है ।
Lifestyle Changing Thought (Part-2)

LCT-33:
ब्यक्ति की चाहत भगवान पूरा नहीं करते
भगवान सिर्फ आपको मदद करते हैं।
अर्थार्त
अपनी अच्छा कार्य तथा दूसरे की दुआ को भगवान जल्दी सुनते हैं ।
मगर कर्म आपको करना पड़ेगा और दूसरे केलिए कभी कभी दुआ करते रहिए ।

LCT-34:
दूसरे की कार्य को देखकर
दुखी होने बाले जान लो
वो अपनी अच्छे समय को
बर्बाद कर रहै है ।
क्योंकी
जलने से दुर्गंध ही नसीब होता है
सुगंध से तो खुसी मिलती है  ।
LCT-35:
आप अगर सोचते हैं कि में
सही कर रहा हूँ ।
तो आप बिल्कुल सही कर रहे होंगे।
मगर
पहले जाांच कर लेना जरूरी है ।
क्योंकि ठगने बाले बहुत है दुनिया में
सतर्क और चौकन्ना रहना आपकी जिम्मेदारी है ।


Follow me:- 

Nilamadhab Bhuyan (Google & Instagram)

N Bhuyan (Facebook)

Bhuyans Blog (Blogger)

@N Bhuyan2 (Twitter)



Bhuyans Blog